क़सीदा Qaseeda Lyrics in Hindi

Qaseeda Lyrics in Hindi sung by Satinder Sartaaj. Qasida lyrics written by Satinder Sartaaj. Music composed by Beat Minister. Starring Satinder Sartaaj, Sawan Rupowali.

Song Title: Qaseeda
Album: Seven Rivers
Singer: Satinder Sartaaj
Lyrics: Satinder Sartaaj
Music: Beat Minister
Label: Saga Music

हो इक वार क़सीदा सुनलो
हलके हो जान दिल भारे
बाकि जिवें कहोंगे

आह जिवें कहोंगे
औवें तरीके लभ लांगे सारे
जी इक वार क़सीदा

इक वार क़सीदा सुनलो
हलके हो जान दिल भारे
बाकि जिवें कहोंगे

आह जिवें कहोंगे
औवें तरीके लभ लांगे सारे
बाकि जिवें कहोंगे

हाँ यादां दे कियारेयां च
रूह दे गलियारेयां च
रेहन जी गुलाबी फूल महकदे
प्यार दे परिन्देया नू होंसला मिले तां
रेहन ख़्यालां दे आ जंगलां च चहकदे

यादां दे कियारेयां च
रूह दे गलियारेयां च
रेहन जी गुलाबी फूल महकदे
प्यार दे परिन्देया नू होंसला मिले तां
रेहन ख़्यालां दे आ जंगलां च चहकदे

बस नैन मिलाके कुछ वी
केह देयो लायो न लारे
बाकि जिवें कहोंगे
आह जिवें कहोंगे औवें
तरीके लभ लांगे सारे
जी एक वार क़सीदा

अखियाँ दे नाल सीधा दिलां च उतार दित्ता
लैंदा ना मोहब्ब्ती ख़ुमार जी
साड्डे नाल होवे ना जो किस्सेयां च होई
जिन्नां जिन्नां ने वी कित्ता सी प्यार जी

अखियाँ दे नाल सीधा दिलां च उतार दित्ता
लैंदा ना मोहब्ब्ती ख़ुमार जी
साड्डे नाल होवे ना जो किस्सेयां च होई
जिन्नां जिन्नां ने वी कित्ता सी प्यार जी

हूण जाग जाग के रातां नू
गिण होणे नहीं तारे
बाकि जिवें कहोंगे
आह जिवें कहोंगे औवें
तरीके लभ लांगे सारे
जी एक वार क़सीदा

आह बड़ा औखा हुँदा जी लफ़ज़ मूक जांदे
होवे कर ना आसान इज़हार जे
सोचां पछतावेयाँ ने रोज़ डूबना
मैं कित्ता जज़्बे दा दरेया ना पार जे

बड़ा औखा हुँदा जी लफ़ज़ मूक जांदे
होवे कर ना आसान इज़हार जे
सोचां पछतावेयाँ ने रोज़ डूबना
मैं कित्ता जज़्बे दा दरिया ना पार जे

ना दिल विच खदशा रह जाये
साह सजणा तों नहीं वारे
बाकि जिवें कहोंगे
आह जिवें कहोंगे औवें
तरीके लभ लांगे सारे
जी एक वार क़सीदा

ओहनां विचों मैं नी जेहड़े धके नाल
पाकीज़ा जेहे प्यार विच वाड़ ’दे गुरूर नी
दिलां ने जे दिलां दी आवाज़ ना सुनी
तां फिर चुप चाप चले जांगे दूर नी

ओहनां विचों मैं नी जेहड़े धके नाल
पाकीज़ा जेहे प्यार विच वाड़ ’दे गुरूर नी
दिलां ने जे दिलां दी आवाज़ ना सुनी
तां फिर चुप चाप चले जांगे दूर नी

आ सरताज़ तों तां नी होणे होछे
बन्देयाँ जेहे कारे
बाकि जिवें कहोंगे
आ जिवें कहोंगे औवें
तरीके लभ लांगे सारे
जी एक वार क़सीदा

इक वार क़सीदा सुनलो
हलके हो जान दिल भारे
जिवें कहोंगे
बाकि जिवें कहोंगे
ओ बाकि जिवें कहोंगे
आहा

Leave a Comment